CHHATTISGARH

अवैध खनन कर पत्थर क्षेत्र में धड़ल्ले से बेचे जा रहे हैं शासन बेखबर

Advertisement

“प्रखरआवाज@न्यूज”

सरसीवा – सारंगढ़ बिलाईगढ़ नवीन जिला बनने के बाद भी क्षेत्र में जोरों पर चल रहे हैं पत्थरो कि अवैध निकासी ,नजदीक में जिला बन जाने के बाद भी अवैध खनन पर रोक नहीं लगाया जा सका । वही एक तरफ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खनन माफियाओं पर कठोर कार्यवाही करने के दिशा निर्देश जारी करते आ रहे हैं परंतु खनन माफियाओं के ऊपर संबंधित विभाग के द्वारा कार्यवाही नहीं किया जाना आनेको संदेह को जन्म देता है ,बताया जाता है कि जिला मुख्यालय से पत्थर खदान की दूरी महज लग भग 24 किलोमीटर दूरी पर ग्राम पंचायत शुक्ला भाटा और सोहागपुर मैं छोटे बड़े मिलाकर लग भग 25 खदान से अवैध रूप से पत्थर तोड़कर क्षेत्र में खुलेआम ऊंचे दामों पर ट्रैक्टर व ट्रकों से बिक्री किया जा रहा है वहीं क्षेत्र में जितने भी चल रहे क्रेशर में अवैध पत्थर को गिट्टी बनाने हेतु बिक्री किया जा रहा है वही शुक्ला भाटा और सुहागपुर में लगभग 5 क्रेशर चल रहे हैं जो अवैध रूप से पत्थर खरीद कर गिट्टी बनाकर ऊंचे दामों में धड़ल्ले से बिक्री कर रहे हैं। वहीं अधिकांश पत्थर खदान के लीज दूसरी जगह का है और खनन दूसरी जगह किया जा रहा है, दबी जुबान एक पत्थर खाधान के कर्मचारी ने बताया कि माइनिंग विभाग के एक कर्मचारी आते हैं और सभी पत्थर खदान व केसर वालों से मुलाखात कर चले जाते हैं। जानकारी हो कि बिना लीज के माफियाओं ने अवैध खनन कर मनमाने तरीके से जेसीबी मशीन से खुदाई कर समतल भूमि को खुदाई कर बड़े-बड़े गड्ढे में तब्दील कर दिया है। वही अब इन गड्ढों में बारिश का पानी भरने से खासकर बच्चों को डूबने का खतरा बना रहता है इसके बाद भी राजस्व माइनिंग विभाग के जिम्मेदार अधिकारी इन पर कार्यवाही नहीं कर रहे हैं।

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button