CHHATTISGARHNATIONALSARANGARH

मुख्यमंत्री ने भरोसे का सम्मेलन में हितग्राहियों को 2028.92 करोड़ जारी किया

Advertisement

“प्रखरआवाज@न्यूज”

सारा लहू बदन का जमीं को पिला दिया, हम पर वतन का कर्ज था, हमने चुका दियाः मुख्यमंत्री श्री बघेल

सारंगढ़ बिलाईगढ़ 21 मई 2023/पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के पुण्य तिथि के अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज दुर्ग जिले के पाटन विकासखंड के ग्राम सांकरा में गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना और राजीव युवा मितान क्लब के हितग्राहियों को कुल 2028.92 करोड़ रूपए जारी किया। इस कार्यक्रम में वीडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से कलेक्टोरेट में जिला सारंगढ़-बिलाईगढ़ की ओर से राजीव युवा मितान क्लब के बड़ी संख्या में साथीगण, गोबर विक्रेता त्रिभुवन गोस्वामी, रामधन श्रीवास, लक्ष्मीप्रसाद चन्द्रा, प्रमोद चन्द्रा, प्रमोद मिश्रा और किसान गुलाब पटेल, संजय दुबे, सुनिल रावत, खगेश्वर पटेल और फलमोती पटेल शामिल हुए। इस अवसर पर संयुक्त कलेक्टर भागवत जायसवाल सहित अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कुमारी शैलजा के साथ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने स्टाॅल का अवलोकन किया। उनके साथ मंत्रिमंडल के सदस्य एवं विधानसभा अध्यक्ष डाॅ. चरणदास महंत उपस्थित थे। दुर्ग जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री बघेल की पहल से सब लोगों का राशन कार्ड बना हुआ है। कोंडागांव विधायक श्री मोहन मरकाम ने मंच में कहा कि श्री भूपेश बघेल की सरकार ने छत्तीसगढ़ के गौरव को बढ़ाया है। डाॅ. मंहत ने सभा को कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के सपने को साकार कर रहे हैं। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि कुमारी शैलजा ने छत्तीसगढ़ के स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल की तारीफ की और छत्तीसगढ़ के विकास के कार्यों के लिए बधाई दी।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि- सभी आगन्तुक मन ल पाटन की ओर से अभिनंदन स्वागत करत हं। राजीव जी के कम्प्यूटर युग तक के योगदान भुलाया नी जाय सकय। पूरा जीवन देश के सेवा म लगा दिस। ऐसे सपूत ल हमन नमन करत हन। पूरा देश में छत्तीसगढ़ में किसान मन ल सम्मान मिलत हे। कोरोना अइस, दुकान बंद ओ समय में हमन तय करेन, 21 मई, 20 अगस्त, 1 नवम्बर अउ 31 मार्च म 1500 करोड़ राशि जारी करेन। मनरेगा से 36 लाख मन ल रोजगार दे रहेन। छत्तीसगढ़ ह पिछले साल आरबीआई से कर्ज नइ ले हावय। हमर रकबा बढ़गे हावय। तौल म, उठाव म, धान खरीदी में सब व्यवस्था रहिस। ग्रामीण अउ शहरी क्षेत्र के भूमिहीन मजदूर, बैगा गुनिया, किसान सबके खाता म हमन डायरेक्ट राशि जमा करथन। जेमन राशन कार्ड बनाना चाहत हे, वो मन के राशन कार्ड बनत हे। हमन के उद्देश्य हे-हितग्राही मन के खाता में राशि देना। आदिवासी क्षेत्र के वनोपज के वेल्यू एडीशन कर बिक्री करवाथन। हमर सरकार ह गउ धरती सबके सेवा करथन। छत्तीसगढ़ महतारी हे, छत्तीसगढ़ के बेटा-बेटी मन के, चाहे कोई भी छत्तीसगढ़िया हो, सब ल लागथे हमर सरकार हे। समय के अनुरूप हमन विकास करथन। हमर छत्तीसगढ़ में धान के अलावा हार्टीकल्चर के भी संभावना हे। नवा लइका मन पढ़ही। आदिवासी मन के गुड़ी, घोटुल बनावथन, राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य मनाथन, रायगढ़ म रामायण करवाथन, चाहे कबीर माने, चाहे साकार मनोइया या निराकार मनोइया सब ल लेके चलथन। कबीर जी, गुरू घासीदास जी के रस्ता म हमर सरकार हे। 20 अगस्त के दूसरा किश्त जारी जाही। मुख्यमंत्री ने अंतिम पंक्ति में कहा – सारा लहू बदन का जमीं को पिला दिया, हम पर वतन का कर्ज था, हमने चुका दिया।

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button