CHHATTISGARHNATIONALSARANGARH

1 मई श्रम दिवस को “बोरे बासी दिवस” के रूप में मनाया जाएगा – कलेक्टर डॉ सिद्धकी

Advertisement

“प्रखरआवाज@न्यूज”

सारंगढ़-बिलाईगड़, 26 अप्रैल 2023/ कलेक्टर डाॅ फरिहा आलम सिद्दीकी ने समय सीमा की बैठक में आगामी 1 मई को राज्य में आयोजित हो रहे “बोरे बासी दिवस” के संबंध में सभी अधिकारियों को कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप सभी स्टाफ बोरे बासी खाने और मजदूर दिवस मनाने की आवश्यक तैयारी करें एवं इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करना सुनिश्चित करें। राज्य शासन द्वारा पिछले वर्ष से छत्तीसगढ़ी संस्कृति, रहन सहन, खान-पान का प्रचार-प्रसार करने के उद्देश्य से मजदूर दिवस के दिन को बोरे बासी दिवस के रूप में मनाया गया था। कलेक्टर डाॅ सिद्दीकी ने मई माह से जिले के कुपोषित बच्चों को कुपोषण से बाहर निकालने हेतु सामाजिक जागरूकता कार्यक्रम के आयोजन के संबंध में सभी विभागीय अधिकारियों से बच्चों को गोद लेने के संबंध में सहमति ली। इस कार्यक्रम के अंतर्गत मई माह से कुपोषित बच्चों को गोद लेकर तीन महीनों तक सतत् मानीटरिंग करते हुए उन्हें पोषणयुक्त भोजन प्रदान किया जाएगा। इस कार्यक्रम में चिरायु से बच्चों के निःशुल्क हेल्थ चेकअप हेतु शिविर का आयोजन किया जाएगा। कलेक्टर ने जिले में कोरोना के मामलों और रिकवरी के संबंध में जानकारी ली। कलेक्टर ने खाद भंडारण एवं वितरण के कार्यों की जानकारी ली। अग्रिम भंडारण और लक्ष्य के आंकड़ों की ब्लाॅकवार सूची तैयार कर तय लक्ष्यों के आधार पर प्राथमिकता से कार्य करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने मुख्यमंत्री स्कूल जतन योजना अंतर्गत जिले के स्कूलों में चल रहे निर्माण एवं मरम्मत कार्यों की समीक्षा करते हुए कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। इसके बाद जाति प्रमाण जारी करने संबंधी कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुए एंट्री के कार्य में तेजी लाने को कहा। कलेक्टर डाॅ सिद्दीकी ने किसान किताब और आधार प्रविष्टि के मामले, राजस्व लंबित मामलों की समीक्षा करते हुए आंकड़ों की समीक्षा करते हुए आगामी दिनों में इन सभी मामलों के त्वरित निराकरण करने के निर्देश दिए। साथ ही नक्शा बंटाकन और अभिलेख शुध्दता रिपोर्ट के कार्यों की समीक्षा की एवं पटवारियों और राजस्व निरीक्षकों की सहायता से कार्य की गति बढ़ाने को कहा‌। राजस्व न्यायालय के प्रकरणों के संबंध में नाराजगी जताते हुए सभी न्यायालयों में लंबित मामलों का प्राथमिकता से शीघ्र निपटान करने को कहा।
इसके अलावा नगरी क्षेत्रों में शासकीय भूमि का व्यवस्थापन, अवैध निर्माण का नियमितीकरण, वर्मी खाद वितरण, धन्वंतरी मेडिकल स्टोर योजना, सेजेस भर्ती, वन अधिकार पत्र, कृष्ण कुंज, रासायनिक ऊर्वरक वितरण, बीज भंडारण, मिलेट मिशन, जल जीवन मिशन, मनरेगा, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, जैविक खाद्य भंडारण, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, सहित अन्य योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी लेकर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में अपर कलेक्टर निष्ठा पाण्डेय तिवारी, संयुक्त कलेक्टर भागवत जायसवाल, एसडीएम मोनिका वर्मा एवं डाॅ स्निग्धा तिवारी सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा बैठक ली

कलेक्टर डाॅ सिद्दीकी ने गोधन न्याय अंतर्गत कार्यों की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को शासन की फ्लैगशिप योजनाओं पर गंभीरता से कार्य करने को कहा। साथ ही योजनांतर्गत गोबर खरीदी, वर्मी कम्पोस्ट के भंडारण की स्थिति, गौमूत्र संग्रहण और क्रय के आंकड़ों की समीक्षा करते हुए कार्य में सुधार करने के निर्देश दिए। इसके अलावा जी-मैप, गोधन पोर्टल पर एंट्री और सुधार की प्रगति की समीक्षा की। कलेक्टर ने कहा कि रीपा योजना में संलग्न हितग्राहियों में महिलाओं एवं पुरुषों का प्रतिशत बराबर हो।

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button