NATIONAL

भारी बारिश और लैंडस्लाइड का कहर.. खतरे में 2000 टूरिस्ट्स, एयरलिफ्ट करने में बाधा बन रहा मौसम

Advertisement

देश के कई हिस्सों में गर्मी तो कुछ हिस्सों में भारी बारिश हो रही है। ऐसे में बात करें सिक्किम की तो यहां लगातारा हो रही बारिश और लैंडस्लाइड से हालात काफी बिगड़ गए हैं। उत्तरी सिक्किम तबाह हो गया है।  मंगन से लाचुंग तक कई जगहों पर लैंडस्लाइड से सड़क परिवहन बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

फंसे हुए हैं 2000 पर्यटक

सूचना मिली है कि यहां लगभग 2000 पर्यटक फंसे हुए हैं। सिक्किम प्रशासन की ओर से पर्यटकों को निकालने की कोशिशें जारी हैं। इतना ही नहीं पर्यटकों को रेस्क्यू करने के लिए हेलिकॉप्टर भी तैयार हैं, लेकिन खराब मौसम के कारण एयरलिफ्ट करना संभव नहीं हो पा रहा है।

सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश

बता दें कि सोमवार को लगभग 50 पर्यटकों को किसी तरह अस्थायी मार्गों से रेस्क्यू किया गया और गंगटोक ले जाया गया था, लेकिन अब हालात औसे हो गए हैं कि उत्तरी सिक्किम के प्रभावित इलाकों में राहत सामग्री भी ठीक से नहीं पहुंच पा रही है।

आज सुबह बारिश और लैंडस्लाइड के बाद बंगाल और सिक्किम बॉर्डर पर ऋषिखोला में नेशनल हाइवे-10 पर यातायात रुक गया है। वहीं, इससे पहले लगातार बारिश और लैंडस्लाइड के कारण सिक्किम के मंगन जिले के सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है।

सिक्किम का पश्चिम बंगाल से टूटा संपर्क

रातभर हुई भारी बारिश के चलते राष्ट्रीय राजमार्ग 10 फिर से ध्वस्त हो गया है। इधर सिक्किम का पश्चिम बंगाल से संपर्क टूट गया है। वलुखोला और लिखुवीर इलाकों में राष्ट्रीय राजमार्ग पर बड़ी चट्टानें गिर गईं हैं, जिससे सड़क यातायात के लिए पूरी तरह से बाधित हो गया है।

इधर  जिला प्रशासन तेजी से सड़क को सामान्य करने में जुटी हुई है। मंगन जिले के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश और लैंडस्लाइड से सड़क और संचार नेटवर्क ठप हो गए हैं, जिससे देश के बाकी हिस्सों से संपर्क नहीं हो पा रहा है। सीमा सड़क संगठन (BRO) मंगन जिले से वाहनों के आवागमन को सुविधाजनक बनाने के लिए सड़क नेटवर्क की बहाली में जुटा है।

अबतक  6 लोगों की मौत

पिछले कुछ दिनों में भारी बारिश के कारण हुए लैंडस्लाइड के कारण सिक्किम में करीब 6 लोगों की मौत हो गई है। प्राकृतिक आपदा ने संपत्तियों को भी काफी नुकसान पहुंचाया है। कई क्षेत्रों में बिजली, खाद्य आपूर्ति और मोबाइल नेटवर्क बाधित हो गए हैं।

सिक्किम में लगातार बारिश का असर बंगाल और विशेष रूप से तीस्ता नदी पर भी पड़ा है। लाचुंग में एक घर बारिश के कारण बह गया। लाचुंग सड़क भी बह गई। तीस्ता से जुड़ने वाली सिंगतम, रंगफो नदी खतरे के लेवल को पार कर गई है, जिससे लोग काफी डरे हुए हैं।

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button