NATIONAL

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री किरण रिजुजू और खेल, युवा मंत्री मनसुख मंडाविया ने ली शपथ, देखें संसद से लाइव तस्वीरें

Advertisement

इसी के साथ पीएम मोदी ने ये भी कहा कि देश को एक अच्छे विपक्ष की आवश्यकता है। जिम्मेवार विपक्ष की आवश्यकता है और मुझे पक्का विश्वास है कि इस 18वीं लोकसभा में हमारे जो सांसद जीत कर आए हैं वह सामान्य जन की अपेक्षाओं को पूर्ण करने का प्रयास करेंगे।

नई दिल्ली : संसद में 18वीं लोकसभा के पहले सत्र की शुरुआत ही चुकी हैं। इस दौरान नई लोकसभा का गठन किया जाएगा। इससे पहले सोमवार यानि आज सुबह 10 बजे राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति भवन में प्रोटेम स्पीकर के रूप में बीजेपी सांसद भर्तृहरि महताब को शपथ दिलाई। वहीं संसद सत्र शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने संबोधित किया। संबोधन के बाद पीएम मोदी ने सांसद पद की शपथ ली।

पीएम मोदी समेत इन नेताओं ने ली शपथ
पीएम मोदी ने 18वीं लोकसभा के सदस्य के रूप में शपथ ली। पीएम मोदी के साथ-साथ गृहमंत्री अमित शाह, कृषि मंत्री शिवराज सिंह चौहान, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह, मनोहर लाल खट्टर, मनसुख मंडाविया, गजेंद्र सिंह शेखावत, अन्नपूर्णा देवी, किरेन रिजिजू, ज्योतिरादित्य सिंधिया,

राजीव रंजन, जीतनराम मांझी और प्रहलाद जोशी समेत अन्य दिग्गज नेताओं ने लोकसभा के सदस्य के रूप में शपथ ली। इसी के साथ 18वीं लोकसभा के पहले सत्र की पहली बैठक शुरू हो चुकी है। वहीं बाकी सासंदों के शपथ लेने का सिलसिला जारी है। इससे पहले पीएम मोदी का संबोधन हुआ।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि ये वैभव का दिन है। साथ ही पीएम मोदी ने नए सांसदों का स्वागत भी किया और कहा कि देश चलाने के लिए सहमति जरूरी है। 18वीं लोकसभा के पहले सत्र से पहले पीएम मोदी का संबोधन हुआ। इस संबोधन ने नई सरकार और विपक्ष की भूमिका पर बात की। इसके बाद पीएम मोदी सदन में पहुंचे, जहां उनके चेहरे पर हल्की सी मुस्कान नजर आई। आज से शुरू हुआ संसद का सत्र 3 जुलाई तक चलेगा।

सत्र से पहले पीएम मोदी ने किया संबोधित
पीएम मोदी ने सत्र शुरू होने से पहले के अपने संबोधन में कहा कि, देश की जनता विपक्ष से संसद की गरिमा बनाए रखने की उम्मीद करती है ना कि ‘नखरे, ड्रामा, नारेबाजी और व्यवधान’ की। उन्होंने कहा कि देश को एक अच्छे और जिम्मेदार विपक्ष की आवश्यकता है।

18वीं लोकसभा के पहले सत्र के पहले दिन मीडिया को संबोधित करते हुए मोदी ने सभी नवनिर्वाचित सांसदों से इस सत्र का उपयोग जनहित में करने का आह्वान भी किया। उन्होंने कहा, ‘‘सभी सांसदों से देश को बहुत अपेक्षाएं हैं। मैं सभी सांसदों से आग्रह करूंगा कि वे जनहित के लिए इस अवसर का उपयोग करें और जनहित में हर संभव कदम उठाएं

विपक्ष को लेकर पीएम मोदी ने कही ये बात
पीएम मोदी ने कहा कि, देश की जनता विपक्ष से अच्छे कदमों की अपेक्षा रखती है। अब तक जो निराशा मिली है। इस 18वीं लोकसभा में देश का सामान्य नागरिक विपक्ष से अपेक्षा करता है कि वह जिम्मेवार विपक्ष के नाते अपनी भूमिका का निर्वाह करे,

लोकतंत्र की गरिमा को बनाए रखने की देश उनसे अपेक्षा करता है। मैं आशा करता हूं कि विपक्ष उसमें खरा उतरेगा।” प्रधानमंत्री ने कहा कि आम जन अपेक्षा करता है कि सदन में बहस हो। लोगों को यह अपेक्षा नहीं है कि नखरे होते रहे, ड्रामा होते रहे, व्यवधान होता रहे। लोग ठोस काम चाहते हैं, नारेबाजी नहीं चाहते।

इसी के साथ पीएम मोदी ने ये भी कहा कि देश को एक अच्छे विपक्ष की आवश्यकता है। जिम्मेवार विपक्ष की आवश्यकता है और मुझे पक्का विश्वास है कि इस 18वीं लोकसभा में हमारे जो सांसद जीत कर आए हैं वह सामान्य जन की अपेक्षाओं को पूर्ण करने का प्रयास करेंगे। वहीं विकसित भारत के हमारे संकल्प को पूरा करने के लिए हम सब का दायित्व है कि हम मिलकर के उस दायित्व को निभाएं और जनता का विश्वास और मजबूत करें।”

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button